Jump to Navigation

समानांतर कीनेमेटीक्स मशीन

सीएनसी मशीन उपकरण विनिर्माण सटीक भागों के लिए उच्च सटीकता और कठोरता की मांग करते हैं। पारंपरिक मशीन उपकरण निर्मातओं ने संपर्क के प्रकरण को सुनिश्चित करने के लिए मशीनों को बडे पैमाने की परसंचनाओं और विस्तृत बेड के साथ बनाया, जिससे उच्च सटीकता और कठोरता बनी रहे। हालांकि, इन विशाल संरचनाओं और विस्तृत बेड पूरी तरह से लचीलापन को खत्म करते हैं  जोकि रोबोट के लिए महत्वपूर्ण है।

 

मशीन टूल्स डेवलपर्स ने हमेशा परंपरागत मशीन टूल्स की सटीकता और कठोरता के साथ रोबोट के लचीलेपन में गठबंधन करने का प्रयास किया है। पिछले 20 वर्षों में इस विकास का ध्यान समानांतर काइनेटिक मशीनो पीकेएम मे केंद्रित किया गया है। इस तकनीक का मतलब है कि एक्स,वाई और जेड में गति तीन या अधिक समानांतर अक्षों से प्रदर्शित हो रही हैं जो लचीलापन और लिफाफे बनाए रखने के लिए उत्कृष्ट कठोरता और सटीकता देता है।

 

समानांतर काइनेटिक मशीनिंग (पीकेएम) के तकनीकी उपकरण की पहुँच लगभग गोलाकार है इसलिए यह एक जटिल घटक विनिर्माण क्षेत्र में लचीलापन प्रदान करता है। पीकेएम में एक्स, वाई और जेड दिशाओं में गति पर्याप्त कठोरता और सटीकता के साथ तीन या अधिक समानांतर अक्षों के द्वारा होती है जोकि लिफाफे में लचीलापन तथा भी पूर्व निर्धारित कठोरता को भी सुनिश्चित करता है।
पीकेएम मशीनों का वर्तमान में मशीनिंग और सामग्री उपयोग से निपटने के लिए इस्तेमाल कियाजा रहा है

 

समानांतर विज्ञान सम्बन्धी मशीन के पारंपरिक मशीन उपकरण प्रौद्योगिकी की तुलना में निम्न फायदे हैं।:

  • रेडुसेड फिक्सचरिंग
  • रेडुसेड जॉब हैंडलिंग
  • रेडुसेड सेट-उप टाइम
  • एनहांस्ड प्रोडक्शन

सीएमटीआई (मैसर्स एक्सेचों) से पी के एम प्रौद्योगिकी के अनुसंधान लाइसेंस है और नई पीढ़ी पीकेएम के विभिन्न पहलुओं में अनुभव और विशेषज्ञता हासिल करने के लिए घर में एक्सटी 700-एस मॉडल विकसित कर रहा है।

 

सीएमटीआई इस क्षेत्र में ज्ञान हासिल करने और आगे भारतीय उद्योगों के लिए इस तकनीक को विकसित करने और इस तरह प्रतिस्पर्धा के निर्माण के लिए इस तरह की प्रौद्योगिकी को अवशोषित करने के लिए भारतीय उद्योग की सहायता के लिए एक प्रयास कर रही है।



by Dr. Radut.