Jump to Navigation

हमारे बारे में

सेन्ट्रल मैन्युफैक्चरिंग टेक्नोलॉजी इंस्टिट्यूट (सीएमटीआई) एक अनुसंधान और विकास संस्थान है जो मुख्यतः मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र की तकनीकी समस्याओं का समाधान प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित करता है और देश की तकनीकी प्रगति में सहायता करता है। देश में सीएमटीआई की विनिर्माण प्रौद्योगिकी विकास के क्षेत्र में एक अत्यधिक महत्वपूर्ण और उत्प्रेरक भूमिका है।

60 के दशक में भारत सरकार द्वारा बेंगलौर में सेंट्रल मशीन टूल संस्थान की स्थापना की गई, जो भारतीय मशीन टूल उद्योग के इतिहास में एक बड़ी घटना थी। 1992 में संस्थान ने विनिर्माण क्षेत्र में अपनी वर्तमान भूमिका में तालमेल बनाए रखने के लिए अपना नाम बदलकर सेन्ट्रल मैन्युफैक्चरिंग टेक्नोलॉजी इंस्टिट्यूट (सीएमटीआई) रख लिया, जब मशीन टूल्स विनिर्माण उद्योगों के उत्पादक प्रयासों से संबंधित संभावनाओं का एक हिस्सा बन गया था।

वर्ष 1960 में संस्थान की कल्पना की गई और मशीन टूल्स और प्रोडक्शन इंजीनियरिंग संस्थान (वीयूओएसओ/VUOSO), चेक गणराज्य (पूर्व में चेकोस्लोवाकिया) के तकनीकी सहयोग के साथ वर्ष 1965 में, संस्थान क्रियाशील हुआ। इस सहयोग के तहत चेकोस्लोवाकिया सरकार ने संस्थान को लगभग 40 प्रकार की विभिन्न मशीनें प्रदान की।

 



by Dr. Radut.